खोज

Vatican News
वायरस से बचने के लिए मास्क लगाकर चलते लोग वायरस से बचने के लिए मास्क लगाकर चलते लोग  (AFP or licensors)

कोरोन वायरस से लड़ने हेतु प्रार्थना, उपवास एवं दान

डाईजोन के धर्माध्यक्ष लाजरूस यू हेयूंग सिक ने कहा है कि चालीसा काल प्रार्थना, उपवास एवं दान देने का समय है। यह मानवता के लिए ईश्वर की योजना पर अपने आपसे सवाल पूछने का अवसर भी है जो कोरोना वायरस के कारण हिल गया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

डाईजोन, बृहस्पतिवार, 27 फरवरी 2020 (एशियान्यूज)˸ कोरिया के लिए काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के समाज सेवा विभाग के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष लाजरूस यू हेयूंग सिक ने कहा, "सर्वशक्तिमान ईश्वर भले और करुणावान हैं। केवल वे जानते हैं कि यह बीमारी कितनी विनाश लायेगी। उन्होंने ही इसे अनुमति दी है। मैं प्रार्थना करता हूँ कि मानव, कलीसिया, धर्मप्रांत एवं मुझसे प्रभु क्या मांग कर रहे हैं उसे समझ सकूँ। 

जो भी घटनाएँ घटती हैं भयावाह ही क्यों न लगें, वे उनके अनन्त प्रेम के चिन्ह हैं। इसे समझने के लिए निश्चय ही अधिक प्रार्थना, पश्चताप एवं त्याग-तपस्य करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, "मैं अपने विश्वासियों से अपील करता हूँ कि हर शुक्रवार को उपवास करें।"  

भोजन जिसको वे ग्रहण नहीं करेंगे उसे जमाकर जरूरतमंद लोगों को दिया जाएगा। इस तरह हम कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की मदद ठोस रूप से करेंगे। शुक्रवार को हम कोरोना वायरस महामारी को समाप्त करने के लिए रोजरी प्रार्थना करेंगे।

26 फरवरी को दक्षिणी कोरिया के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना वायरस से संक्रमित 284 नये पीड़ितों की घोषणा की जो एक दिन में संक्रमित होने की सबसे बड़ी संख्या है। इस महामारी से अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कुल 1,261 लोग पीड़ित हैं। एक सप्ताह पहले इससे केवल 51 लोग पीड़ित थे।  

कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप पूरे विश्व में तेजी से फैल रहा है। इताली समाचार पत्र ला रिपुब्लिका के अनुसार इटली में अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है एवं 528 लोग संक्रमित हैं।

संत पापा के उदाहरणों का अनुसरण करते हुए, डाईजोन धर्मप्रांत में चीन के लोगों के लिए पहल जारी की गयी है जिसमें मास्क, अन्य सुरक्षात्मक सामग्री एवं व्यक्तिगत अवश्यकता के समान खरीदने हेतु चीन के लिए पैसा जमा किया जा रहा है।  

धर्माध्यक्ष ने कहा, "हम अपने चीनी भाई-बहनों की मदद करना चाहते हैं। कलीसिया ने हमेशा उन बीमारियों के खिलाफ संघर्ष किया है जिन्होंने इतिहास में मानवता को भयभीत किया है।"

27 February 2020, 17:19