खोज

Vatican News
माल्टा में प्रदर्शन माल्टा में प्रदर्शन 

माल्टा के धर्माध्यक्षों ने देश में एकता की अपील की

माल्टा के काथलिक धर्माध्यक्षों ने द्वीप में एकता की अपील की है, जब देश में विभाजन से घृणा, झूठ एवं हिंसा बढ़ सकती है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

माल्टा, बृहस्पतिवार, 5 दिसम्बर 2019 (रेई)˸ माल्टा के काथलिक धर्माध्यक्षों ने सार्वजनिक हित को ध्यान में रखते हुए एक विज्ञप्ति जारी कर अपील की है कि देश में एकता और सम्मान को बढ़ावा दिया जाए ताकि जिस कठिनाई की घड़ी से देश गुजर रहा है वह विभाजन के कारण अधिक गंभीर न हो जाए।  

माल्टा इस समय राजनीतिक उथल-पुथल में है क्योंकि 2017 में एक खोजी पत्रकार की कार बम विस्फोट में मौत की जांच जारी है।

डाफने कारूना गलित्सिया पर जाँच

यूरोपीय संघ आयोग के प्रमुख उर्सुला वॉन देर लेयेन ने डाफने कारूना गलित्सिया की हत्या पर एक विस्तृत एवं निष्पक्ष जाँच की मांग की है। जाँच के इस कार्य के दौरान  देश के राजनीतिक और व्यावसायिक क्षेत्रों में भ्रष्टाचार, मनी लॉन्ड्रिंग और कर चोरी के गंभीर आरोप लगे हैं।

जाँच का परिणाम सरकारी संकट के रूप में निकला है जिसके कारण प्रधानमंत्री जोसेफ मस्कट के इस्तीफे की मांग हेतु विरोध प्रदर्शन शुरू हो गये हैं। प्रधानमंत्री ने जनवरी में इस्तिफा देने का वादा किया है।

धर्माध्यक्षों की अपील

धर्माध्यक्षों ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि आध्यात्मिक संचालकों के रूप में वे इस उथल-पुथल की घड़ी में अपील करना चाहते हैं कि सच्चाई एवं न्याय, उदारता एवं एक-दूसरे के प्रति सम्मान को बढ़ावा देने के लिए हमें शांत होकर एक साथ काम करना चाहिए।

तीन काथलिक धर्माध्यक्षों, माल्टा के महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स शिक्लुना, उनके सहायक धर्माध्यक्षों जोसेफ गालेया कुरमी और मारियो ग्रेक; एवं गोजो के प्रेरितिक प्रशासक ने राष्ट्रपति जोर्ज वेल्ला द्वारा 1 दिसम्बर को की गयी "एकता की अपील" का समर्थन करने के लिए एक वक्तव्य जारी किया है। धर्माध्यक्षों ने लिखा, "हम जिस कठिन दौर से गुजर रहे हैं उसके कारण विभाजन न बढ़े।" इसके विपरीत उन्होंने माल्टा की बेहतरी के लिए सहयोग की भावना से एक साथ काम करने की अपील की है ताकि संस्थाएँ अपने कर्तव्यों को तत्परता एवं निष्पक्षता से पूरा कर सकें। धर्माध्यक्षों ने कहा है कि जैसा कि हर समाज में असहमति स्वभाविक है, हम अपने वैध विचारों को एक-दूसरे एवं सच्चाई के लिए सम्मान के साथ प्रकट करने हेतु बुलाये जाते हैं। इस कार्य में हमें घृणा, झूठ और हिंसा के जाल से बचकर रहना चाहिए। धर्माध्यक्षों ने सभी लोगों का आह्वान किया है कि वे माल्टा के संविधान के प्रति सच्ची निष्ठा की भावना के साथ सार्वजनिक कल्याण की खोज करें।  

आगमन काल की याद करते हुए उन्होंने प्रार्थना की है कि न्याय, सच्चाई और ईमानदारी  के प्रति हमारे लोगों के उत्साह को एक-दूसरे के प्रति सम्मान के साथ प्रकट किया जा सके और हिंसा चाहे वह मौखिक हो अथवा शारीरिक उसका पूरी तरह बहिष्कार किया जा सके।     

05 December 2019, 15:48