खोज

Vatican News
मुम्बाई के मछुआरे मुम्बाई के मछुआरे  

आगमन काल के कार्यक्रमों द्वारा युवाओं की सहायता

मुम्बई महाधर्मप्रांत के सामाजिक कार्य केंद्र ने आगमन काल अभियान के तहत भूख और बीमारी के खिलाफ एक अभियान जारी किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

मुम्बई, शनिवार, 14 दिसम्बर 2019 (रेई)˸ मुम्बई महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल ऑस्वल्ड ग्रेसियस ने कहा, "यह योजना यूनिसेफ की मदद से जारी किया गया है। इन बच्चों को अपने विकास के मुद्दों को उठाने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है और यह भी सुनिश्चित किया जाता है कि बच्चों के अधिकारों का उल्लंघन न हो।"

इस अभियान की विषयवस्तु है, "बच्चों के उत्तम हित की सेवा"।  

सामाजिक कार्य केंद्र द्वारा बच्चों के लिए पूरक क्लास, युवाओं के लिए व्यावसायिक कौशल विकास और नौकरी दिलाना, वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम, अपनी उपज के लिए बाजार समर्थन के साथ पारंपरिक और वैकल्पिक आजीविका के लिए प्रशिक्षण आदि का प्रबंध किया गया है। कार्डिनल ने कहा कि जीविका प्राप्त करने में मदद देने के द्वारा, शहरों की ओर पलायन कम करने, महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार लाने और बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने में मदद दिया जा सकेगा।  

सामाजिक कार्य केंद्र के निदेशक फादर मारियो मेंडेस ने क्रूक्स को बतलाया कि इसके द्वारा कमजोर बच्चों को मदद दिया जाएगा ताकि वे स्कूल न छोड़ें तथा खेल से सिखाने की विधि द्वारा ज्ञान हासिल कर पायेंगे। उन्होंने बतलाया कि पिछले साल 1500 बच्चों की मदद की गयी थी।

उन्होंने कहा, "या अभिभावक-शिक्षक बैठकों में भाग लेने के लिए माता-पिता को प्रशिक्षित करके स्कूलों के कामकाज में सुधार करता है और बच्चों के स्वास्थ्य और स्वच्छता पर एक जांच रखने के लिए एक तंत्र प्रदान करता है।"

आर्थिक रूप से कमजोर, सामाजिक रूप से हाशिये पर जीवनयापन करनेवाले एवं कमजोर शैक्षणिक पृष्ठभूमि वाले युवाओं को व्यावसायिक कौशल कार्यक्रम द्वारा  कौशल, प्रशिक्षण और नौकरी प्राप्त करने में मदद दी जाती है।  

फादर ने कहा कि आगमन काल के कार्यक्रम में कई अन्य कार्यक्रमों द्वारा मदद दी जा रही है जिसमें एक घरेलू कामकाजी कौशल विकास कार्यक्रम भी शामिल है, जिसमें बुनियादी शिष्टाचार, घर और बच्चों की देखभाल, मौलिक स्वास्थ्य देखभाल, घर की सजावट, आग से रक्षा, प्राथमिक चिकित्सा और अन्य काम सिखलाये जाते हैं ताकि लोगों को रोजगार मिल सके। उन्हें एक घरेलू कामकाजी के रूप में अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होने के लिए भी सिख दी जाती है।

इस बीच, वित्तीय सशक्तिकरण कार्यक्रम में महिलाओं को बैंकिंग और बीमा की मूल बातें समझने और आवर्ती और सावधि जमा के माध्यम से संपत्ति प्राप्त करने में मदद दी जाती है।

आगमन काल युवा लोगों को बेहतर नागरिक बनने में मदद करने के लिए फंड कार्यक्रमों में भी मदद करती है।

फादर मेंडेस ने कहा, कि एक गाँव या संस्था के बच्चों को बाल सभा बनाने के लिए एक साथ लाया जाता है, जिसे बाल संसद भी कहा जाता है इसमें सभी प्रकार के लोगों को शामिल किया हैं। वे विभिन्न खेल गतिविधियों के माध्यम से अपने अधिकारों के बारे में जागरूक किये जाते हैं।

उन्होंने कहा कि इसके द्वारा बच्चे अपने नेतृत्व के गुण में विकसित होते हैं, वे समुदाय की भावना में बढ़ते हैं और अंततः सक्रिय नागरिक बनते हैं।

14 December 2019, 14:37