खोज

Vatican News
दक्षिण सूडान में बाढ़ से प्रभावित श्रेत्र दक्षिण सूडान में बाढ़ से प्रभावित श्रेत्र 

दक्षिण सूडान में बाढ़ पीड़ितों की मदद करती कलीसिया

पूर्वी अफ्रीका में भारी बारिश के बाद दक्षिण सूडान में बाढ़ से प्रभावित लोगों की सहायता में कलीसिया सक्रिय है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

मालाकाल (दक्षिण सूडान), शनिवार 9 नवम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : दक्षिण सूडान और सोमालिया में बाढ़ ने लगभग 9 लाख लोगों को हाल के दिनों में अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है। इनमें से 6 लाख लोग दक्षिण सूडान के हैं, जहां सहायताकर्मी सबसे बुरी तरह से प्रभावित लोगों को मानवीय सहायता प्रदान कर रहे हैं।

सिस्टर एलेना बालट्टी दक्षिण सूडान के मालाकाल धर्मप्रांत में काम करने वाली एक कोमबोनी मिशनरी हैं। उन्होंने वाटिकन रेडियो के मार्को गुएरा को बताया कि कलीसिया बाढ़ प्रभावित क्षेत्र को मुख्य रूप दो चीजों का वितरण कर सहायता के प्रदान करने का प्रयास कर रहा है।

सिस्टर एलेना ने कहा कि प्रभावित आवासहीन लोगों के लिए टेंट खरीदने और वितरित करने का बहुत काम किया जा रहा है, ताकि लोग "अस्थायी आश्रयों" में रह सकें, जहां उनके गांव क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

टेंट के साथ-साथ मच्छरदानी के वितरण की सख्त जरूरत है। सिस्टर एलेना ने कहा कि " बाढ़ का पानी उन क्षेत्रों में रुक गया है। जिसकी वजह से मच्छरों के पनपने और मलेरिया होने का डर है,इसलिए इन क्षेत्रों में"मच्छरदानी का वितरण पहले किए जाने वाले कार्यों में से एक है।”

सिस्टर एलेना बताती हैं कि जल्द ही खाद्य आपातकाल होगा, क्योंकि फसल बाढ़ में डूब गई है और इन लोगों को  जीने के लिए बुनियादी खाद्य पदार्थों की आवश्यकता होगी।

जुलाई के बाद से, विनाशकारी मौसम ने पूर्वी अफ्रीका के कई देशों को प्रभावित किया है, जहां कम से कम 30 लाख लोगों को पहले से ही मानवीय सहायता की आवश्यकता है।

09 November 2019, 15:34