खोज

Vatican News
निकारागुआ के धर्माध्यक्ष निकारागुआ के धर्माध्यक्ष  

निकारागुआ धर्माध्यक्षों द्वारा सुलह की अपील

राष्ट्रीय स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर निकारागुआ धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने राष्ट्रपति दानियल ओर्टेगा की सरकार और विपक्षी दलों के बीच सामंजस्य स्थापित करने की अपील की, ताकि प्रत्येक नागरिक के लिए बेहतर भविष्य का निर्माण हो सके।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

निकारगुआ, बुधवार 18 सितम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज़) : अप्रैल महीने में निकारागुआ सरकार ने सामाजिक सुरक्षा भुगतान में कटौती की घोषणा की थी जिससे देशव्यापी विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। सरकार को अपनी इस घोषणा को रद्द करना पड़ा। विरोध प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति दानियल ओर्टेगा को पद छोड़ने और चुनाव कराने की मांग की। इस पर राष्ट्रपति दानियल ओर्टेगा का कहना है कि वे अगले चुनाव 2021 तक अपने चौथे कार्यकाल को पूरा करेंगे।

निकारागुआ धर्माध्यक्षों का बयान

राष्ट्रीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में रविवार को जारी एक बयान में निकारागुआ धर्माध्यक्षों ने राष्ट्रपति दानियल ओर्टेगा की सरकार और विपक्षी दलों के बीच सामंजस्य स्थापित करने की अपील की। सुरक्षा बलों और विरोधी दलों में निरंतर झड़पें होती रही हैं। बढ़ते हुए संकट को हल करने के लिए कलीसिया ने दोनों पक्षों के बीच बातचीत शुरू करने के अपने प्रयासों को जारी रखा है। उनका कहना है कि "आग से आग बुझाई नहीं जा सकती।"

क्षमा, शांति की नींव और रास्ता

उन्होंने सभी को प्रोत्साहित करते हुए कहा, "आइए, हम एक ऐसे देश का सपना देखें, जहां धन पर नहीं परंतु लोगों पर ध्यान केंद्रित किया जाए। लोगों के विकास और उनके परिवारों की खुशी पर ध्यान दिया जाए। आइए, एक सुलझे हुए देश का सपना देखें। सत्य और क्षमा, शांति की नींव और रास्ता है।"

धर्माध्यक्षों ने कहा कि निकारागुआ में सामंजस्य स्थापित करने के लिए कठोर दिलों को खोलने और नरम करने की जरुरत है, तभी विनम्रता के साथ सभी की भलाई के लिए समझौता किया जा सकता है।

18 September 2019, 16:57