खोज

Vatican News
संत जॉन बर्कमन्स इंडर कॉलेज मुंडली पर हमले के विरोध में प्रदर्शन संत जॉन बर्कमन्स इंडर कॉलेज मुंडली पर हमले के विरोध में प्रदर्शन 

जेसुइट स्कूल पर हमले के विरोध में जुलूस, न्याय की मांग

साहेबगंज के निकट संत जॉन बर्कमन्स इंडर कॉलेज मुंडली में 3 सितम्बर को कॉलेज और लोयोला छात्रावास पर घातक हमले के विरोध में 16 सितम्बर को आदिवासियों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया और न्याय की मांग की गयी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

साहेबगंज, मंगलवार, 17 सितम्बर 2019 (वाटिकन रेडियो हिन्दी)˸ झारखण्ड राज्य में जेसुइट धर्मसमाजियों द्वारा संचालित सन्त जॉन बर्कमन्स इन्टर कॉलेज एवं छात्रावास पर विगत सप्ताह कम से कम 500 हिन्दू चरमपंथियों ने हमला किया था तथा जमकर तोड़-फोड़ की थी। उन्होंने कुछ रूपये, मोबाईल, लैपटोप, तेल आदि समानों को भी अपने साथ ले गये थे। 

16 सितम्बर को स्थानीय आदिवासी लोगों ने बैनर लेकर भारी संख्या में मौन जुलूस में भाग लिया था। बैनरों में लिखे गये थे, "हमें न्याय चाहिए, पुलिस होश में आओ, दोषियों को संरक्षण देना बंद करो। मानव पर प्रहार करना बंद करो" इत्यादि। जुलूस में किसी तरह की हिंसक घंटनाएँ नहीं हुई हैं।

शिक्षक अभिभावक संघ जिसने मौन जुलूस का आयोजन किया था, झारखंड की राज्यपाल श्रीमती द्रौपदी मूर्मू को एक ज्ञापन सौंपा, जिसकी प्रतिलिपि मुख्यमंत्री और पुलिस उप महानिरिक्षक को भी सौंपी गयी। ज्ञापन में 3 सितम्बर को हुई घटना से अवगत कराते हुए राज्यपाल से उचित न्याय एवं सुरक्षा की मांग की गयी है।

उन्होंने राज्यपाल का ध्यान निम्नलिखित विन्दुओं की ओर भी खींचा-

1.निष्क्रिय स्थानीय व जिला पुलिस प्रशासन की भूमिका।

2. स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की चुप्पी व निष्क्रियता।

3.छात्रों की ओट में समाज विरोधी तत्वों की जाँच व गिरफ्तारी।

4. अभियुक्तों द्वारा महाविद्यालय को ही ध्वंस वसमाप्त करने की योजना का पर्दाफाश।

5. कॉलेज प्रशासन के अधिकारियों व छात्रावास के छात्रों आदि की अभियुक्तों से जान माल की सुरक्षा।

6. कॉलेज एवं लोयोला आदिवासी छात्रवास की लाखों रूपयों की सम्पति की क्षति भी अभियुक्तों से वसूली की जाए।

7. संत जॉन बर्कमन्स विद्यालय एवं छात्रवास की सुरक्षा के लिए मुंडली में एक पुलिस चौकी स्थापित किया जाए।

झामुमो के उपसचिव पौलुस मुर्मू ने घटना की कड़ी निंदा की। उन्होंने स्थानीय समाचार पत्र के माध्यम से कहा, "संत जॉन बर्कमन्स इंडर कॉलेज मुंडली में विगत 3 सितम्बर को गैर-आदिवासी छात्रों द्वारा हॉस्टेल के छाक्षों के साथ मारपीट और लोयोला छात्रावास में तोड़-फोड़ और पुलिस पर पथराव की घटना की तीव्र निंदा करते हैं।नामजद अभियुक्तों की जल्द से जल्द गिरफ्तार होनी चाहिए। छात्रों को मिशनरी विरोधी तत्वों ने भड़काया है। पुलिस जाँचकर ऐसे लोगों की पहचान करे। अन्यथा जल्द ही आदिवासी समुदाय साजिश कर्ता और नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए आंदोलन करेगा।"

17 September 2019, 18:02