खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

पाराग्वे में दो बच्चों और दादा-दादी की हत्या से लोगों में आक्रोश

दो बच्चों और उनके दादा-दादी की हत्या की दुखद धटना के मद्देनजर पाराग्वे के धर्माध्यक्षों ने देश में हिंसा के खिलाफ अपील की।

माग्रेट सुनता मिंज-वाटिकन सिटी

पाराग्वे, बुधवार, 17 जुलाई 2019 (रेई) : पाराग्वे धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीएफ) ने पाराग्वे के चाको क्षेत्र में, दो बच्चों के साथ उनके दो दादा-दादी की हत्या पर "दर्द और आक्रोश" व्यक्त करते हुए अपने संचार कार्यालय से एक संदेश जारी किया। उन्होंने कहा कि शांत माने जाने वाले क्षेत्रों में भी हिंसा यह दिखाता है कि देश में हिंसा बढ़ रही है। जो कुछ भी हुआ, उससे हम अत्यंत दुखी और हैरान हैं, इस क्षेत्र के निवासियों के शांतिपूर्ण और सामंजस्यपूर्ण जीवन को खतरा पैदा हो गया"। जितनी क्रूरता के साथ हत्या की गई उससे लोगों में भय और आक्रोश पैदा हो गया है।

सीइपी की संवेदना

पाराग्वे धर्माध्यक्षीय सम्मेलन समुदायों और परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता है और यह आशा करता है कि अधिकारी तथ्यों की सही जाँच कर अपराधियों को न्याय के कटघरे में खड़ा कर पायेंगे। "ये ऐसे तथ्य हैं जो हमारे देश और हमारे लोगों को बाधित करते हैं। यह सभी लोगों को एकता में रहने और शांति के लिए प्रार्थना करने का भी अवसर है। धर्माध्यक्षों का अनुरोध है कि हर धर्मप्रांत के पल्लियों, समुदायों और परिवारों में, देश में शांति और हिंसा की समाप्ति के लिए प्रार्थना करें। किसी भी निर्दोष की हत्या न हो। सभी को सुरक्षा मिले।"

17 July 2019, 16:02