खोज

Vatican News
पाकिस्तानी धर्माध्यक्ष प्रधानमंत्री से मुलाकात करते हुए पाकिस्तानी धर्माध्यक्ष प्रधानमंत्री से मुलाकात करते हुए 

पाकिस्तानी धर्माध्यक्षों का प्रधानमंत्री से मुलाकात

पाकिस्तान की काथलिक कलीसिया के प्रतिनिधियों ने 4 जुलाई को प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात की तथा देश में ख्रीस्तियों की स्थिति पर चिंता व्यक्त किया। उन्होंने देश में जल संसाधन को बढ़ाने हेतु सहयोग का आश्वासन दिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

पाकिस्तान, शनिवार, 6 जुलाई 2019 (रेई)˸ पाकिस्तानी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव धर्माध्यक्ष बेन्नी मारियो त्रावास ने फिदेस न्यूज को बतलाया कि प्रधानमंत्री ने राजधानी इस्लामाबाद के अपने कार्यालय में उनका स्वागत किया और उन्होंने पाकिस्तान के विकास के लिए कलीसिया के अच्छे कार्यों की सराहना की।    

देश में ख्रीस्तियों की स्थिति पर चिंता का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार अल्पसंख्यक समुदायों की चुनौतियों का सामना करने का हरसंभव प्रयास कर रही है।

जल संसाधन

पाकिस्तान के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष जोसेफ अरशद ने डायमर-भाषा और मोहमंद बांध के निर्माण हेतु प्रधानमंत्री को 56,50,000 पाकिस्तानी रूपये (करीब 32,470 यूरो) सौंप दिये।  

धर्माध्यक्षों ने 2018 के नवंबर माह में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन अध्यक्ष मियां साकिब निसार द्वारा शुरू की गई जलाशय पहल का समर्थन करने के लिए धन जुटाने का फैसला किया था। दो बांधों के लिए उन्होंने इस विशिष्ट कोष की शुरूआत की। इस पहल को इमरान खान का समर्थन प्राप्त था, जिन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के बाद, पाकिस्तान में इन बड़े जल भंडारों के निर्माण की प्रतिबद्धता जारी रखी है।

हैदराबाद के धर्माध्यक्ष सामसोन शुकरदिन ने फिदेस को बतलाया कि धर्माध्यक्षों ने अपने विश्वासियों को पत्र लिखकर सरकार के इस पहल का समर्थन करने हेतु फंड जमा करने का आग्रह किया था और प्रधानमंत्री को सौंपी गयी रकम विश्वासियों की उदारता का ही परिणाम है।   

पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन

धर्माध्यक्ष शुकरदिन ने कहा, "हर साल हम जलवायु परिवर्तन एवं ग्रीष्म ऋतु में कड़ी धूप के प्रभाव को देख रहे हैं। हमें जल के अभाव एवं उससे संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ता है।" उन्होंने कहा, "हम धर्माध्यक्षों ने महसूस किया कि इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए हमें सहयोग करने की जरूरत है तथा हमने अपने पुरोहितों एवं विश्वासियों को उदारतापूर्वक सहयोग देने हेतु प्रोत्साहित किया। पाकिस्तान की काथलिक कलीसिया में छः धर्मप्रांत हैं।

धर्माध्यक्ष ने बतलाया कि कलीसिया पहले से ही देश को अपना सहयोग देती आ रही है, खासकर, उत्तम शिक्षा, बीमारों की देखभाल एवं समाज सेवा के माध्यम से। उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में पर्यावरण की रक्षा, जलवायु परिवर्तन एवं जल की जिम्मेदारी पूर्वक प्रयोग के प्रति जागरूकता लाने के द्वारा भी वे अपना योगदान दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि धर्मप्रांत जलवायु की रक्षा के लिए अपने क्षेत्र में सरकार से मिल कर कार्य करती है। पूरे पाकिस्तान में ख्रीस्तियों ने कारितास पाकिस्तान के द्वारा कुल 10 मिलियन पेड़ लगाये हैं।  

06 July 2019, 12:46