खोज

Vatican News
कार्डिनल न्यूमन जिनकी संत घोषणा 13 अक्टूबर को होगी कार्डिनल न्यूमन जिनकी संत घोषणा 13 अक्टूबर को होगी 

एंग्लिकन कलीसिया द्वारा कार्डिनल न्यूमन की संत घोषणा का स्वागत

काथलिक कलीसिया के साथ एंग्लिकन कलीसिया ने कार्डिनल जॉन न्यूमन की संत घोषणा को स्वीकार कर लिया है। संत घोषणा 13 अक्टूबर 2019 को वाटिकन स्थित संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में सम्पन्न की जायेगी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 4 जुलाई 19 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस ने 1 जनवरी को कार्डिनल जॉन हेनरी न्यूमन एवं उनके साथ जुसेप्पीना वालिनी, मरियम तेरेसिया किसामेल मनकिदियान, इरमा दुलचे पोंनतेस और मारग्वेराईट बेस की संत घोषणा को अनुमोदन दिया, जिन्हें 13 अक्टूबर को ख्रीस्तयाग के दौरान संत घोषित किया जाएगा। 

संत जोन हेनरी न्यूमन

इंगलैंड की कलीसिया द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, पूर्व एंग्लिकन पुरोहित न्यूमन सन् 1845 में रोमन काथलिक और बाद में कार्डिनल भी बने। वे अपने समय में एंग्लिकन एवं रोमन काथलिक कलीसिया दोनों में प्रभावशाली व्यक्ति थे।  

संत घोषणा की खबर सुन इंगलैंड और वेल्स के एंग्लिकन-रोमन काथलिक समिति के उपाध्यक्ष एंग्लिकन धर्माध्यक्ष ख्रीस्तोफर फोसतेर ने कहा, "धन्य जॉन हेनकी न्यूमन की संत घोषणा इंगलैंड एवं वेल्स की काथलिक कलीसिया के लिए एक बड़ी खुश खबरी है और हम उनके पवित्र जीवन को सम्मान दिये जाने के लिए धन्यवाद देते हैं जो हम सभी के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं।"  

एंग्लिकन एवं काथलिक दोनों ही कलीसियाओं को उन्होंने ईशशास्त्र, शिक्षा और पवित्र जीवन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

कार्डिनल न्यूमन का जन्म 21 फरवरी 1801 को लंदन में हुआ था। उनका निधन 11 अगस्त 1890 को एडगबास्तोन में हुआ। वे एक ईशशास्त्री एवं कवि के रूप में जाने जाते हैं। वे सन् 1833 में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में ऑक्सफोर्ड आंदोलन के से जुड़े थे, जिन्होंने एंग्लिकन कलीसिया को रोमन काथलिक कलीसिया से अधिक निकटता से जोड़ने की मांग की थी।

04 July 2019, 17:19