खोज

Vatican News
कार्डिनल मारडियागा, पाओलो रफिनी और फादर अब्राहम कवलकाट्ट कार्डिनल मारडियागा, पाओलो रफिनी और फादर अब्राहम कवलकाट्ट 

भारतीय पुरोहित अब्राहम कवलकाट्ट को संस्कृति पुरस्कार

न्यूयॉर्क में इटली वाणिज्य दूतावास में गैर-ख्रीस्तियों के उद्धार पर कलीसिया की शिक्षा" के तहत "ईश्वर के अद्भुत तरीके” पुस्तक के लेखक को पुरस्कार प्रदान किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

न्यूयॉक, बुधवार 26 जून 2019 (वाटिकन न्यूज) : पिछले बुधवार को न्यूयॉर्क के इटली वाणिज्य दूतावास के मुख्यालय में गत बुधवार 19 जून को ‘पंतेओन फाउनडेशन’ दवारा भारतीय सलेशियन पुरोहित अब्राहम कवलकाट्ट को उनके स्वैच्छिक पुस्तक "ईश्वर के अद्भुत तरीके" के लिए एक मेरिट पट्टिका से सम्मानित किया गया। यह पुस्तक दूसरी वाटिकन सभा द्वारा लिखित गैर-ख्रीस्तियों के दिव्य उद्धार के तरीकों पर आधारित दस्तावेज पर बहसों और खोजों के लिए समर्पित है।

ईश्वर की खोज और सभी के लिए मुक्ति की संभावना

इस समारोह में इटली के महावाणिज्य दूत फ्रांसेस्को गेनुआर्डी, कार्डिनल ऑस्कर रोड्रिग्ज मारडियागा, संचार विभाग के प्रधान पाओलो रफिनी, रोम के विश्वविद्यालय ला सैपिएन्ज़ा के पूर्व-रेक्टर प्रोफेसर लूइजा फ्राती और अन्य गणमान्य मेहमान और वे सभी लोग थे जो ईश्वर की खोज में रुचि रखते हैं और मसीह में मुक्ति की संभावना सभी लोगों को देते हैं।

द्वितीय वाटिकन महासभा से आज तक: शिक्षा और बहस

मोन्सिन्योर कवलकाट्ट ने कहा कि हर कोई ईश्वर की तलाश में है और किसी तरह से मोक्ष की प्राप्ति आज का ज्वलंत विषय है। वाटिकन द्वितीय के समय से लेकर आज तक, विशेषज्ञों और धर्मशास्त्रियों ने वार्ता एवं अध्ययन कर इस विषय पर क्रमिक ऐतिहास का विकास किया है।

विस्तृत और सटीक काम

‘लाइब्रेरिया एडित्रिचे वाटिकाना’ द्वारा पुस्तक के प्रकाशन के एक साल बाद - विश्वास और संवाद में - एक विस्तृत और सटीक काम के लिए अपेक्षाओं से परे लोगों में लोकप्रिय हो रही है। 750 पृष्ठों वाला इस पुस्तक द्वितीय वाटिकन सभा के धर्माध्यक्षों की शिक्षा, संत पापा जॉन तेईस्वे, संत पापा पॉल छठे, संत पापा जॉन पॉल द्वितीय, संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें और संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक धर्मशिक्षाओं को इकट्ठा करता है साथ ही कलीसिया के अंदर और अन्य समुदायों द्वारा किये गये आलोचनाओं पर भी प्रकाश डालता है।

मुक्ति के अन्य मार्ग जिसे केवल ईश्वर जानते हैं

"कलीसिया मनुष्य को मुक्ति के उस मार्ग को बताती है जिसे वह जानती है।" मोन्सिन्योर कवलकाट्ट ने अंत में याद दिलाया कि "ईश्वर ने हमें मुक्ति की अन्य परियोजनाओं को प्रकट नहीं किया है। वह अपनी इच्छानुसार पुरुषों तक पहुंचने के लिए स्वतंत्र हैं लेकिन उन्होंने हमें एक रास्ता दिखाया है, त्रित्वमय परमेश्वर के मुक्ति का मार्ग"। "हम नहीं जानते कि उद्धार के अन्य संभावित तरीके क्या हैं, क्योंकि मसीह द्वारा केवल एक ही प्रकट किया गया है, लेकिन यदि अन्य तरीके हैं, तो केवल ईश्वर ही उन्हें जानते हैं।"

26 June 2019, 16:19