Cerca

Vatican News
संत जोसेफ वृद्धाश्रम, कोलकाता संत जोसेफ वृद्धाश्रम, कोलकाता 

कोलकाता में आज शुरु हुआ विश्व रोगी दिवस 2019

विश्व रोगी दिवस 2019 का तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय समारोह आज 9 फरवरी शनिवार को कोलकाता में शुरु हो गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

कोलकाता, शनिवार 9 फरवरी 2019 (रेई) : काथलिक कलीसिया दवारा शुरु की गई 11 फरवरी को विश्व रोगी दिवस का समारोह इस वर्ष कोलकाता में मनाया जा रहा है और इसकी शुरुआत दो दिन पूर्व कोलकाता में दो दिवसीय धार्मिक प्रेरितिक आत्मचिंतन और बीमार एवं लाचार लोगों के लिए करुणा के कार्यो का आयोजन किया गया है।  

पहले दिन का कार्यक्रम

कोलकाता महाधर्मप्रांत के सामाजिक संचार विभाग के निदेशक फार्रेल शाह ने वाटिकन रेडियो के संवाददाता रोबिन को बताया कि प्रथम दो दिन का समारोह कोलकाता में आयोजित है शनिवार 9 फरवरी को कोलकाता के संत जेवियर्स कॉलेज में एक सेमिनार का आयोजन है जिसमें एशिया और वेटिकन से आये वक्ता दुनिया भर के करीब 150 प्रतिनिधियों और करीब 150 स्थानीय लोगों को संबोधित करेंगे। शनिवार को संत मदर तेरेसा के कब्र पर पवित्र मिस्सा समारोह का अनुष्ठान किया जाएगा। संत जेवियर्स कॉलेज प्रांगण में रोगियों के संस्कार की धर्मविधि सम्पन्न की जाएगी।

दूसरे दिन का कार्यक्रम

फार्रेल शाह ने बताया कि10 फरवरी रविवार को सुबह, प्रतिनिधियों को तीन दल में बांट दिया जाएगा प्रत्येक में लगभग 100 प्रतिनिधि रहेंगे, जो कोलकाता में 3 देखभाल केंद्रों का दौरा करेंगे। दो दल मिशनरीज ऑफ चैरिटी धर्मबहनों द्वारा चलाए जा रहे शांति दान केंद्र और प्रेम दान केंद्र जाएंगे। एक दल गरीबों की छोटी धर्मबहनों द्वारा चलाये जा रहे संत जोसेफ वृद्धाश्रम जाएंगे। वहाँ बीमार और दुर्बल बुजुर्गों से मिलेंगे और आशीर्वाद देंगे।

देखभाल केंद्रों का दौरा करने के तुरंत बाद, संत जेवियर्स कॉलेज में स्वास्थ्य देखभाल के राष्ट्रीय प्रतिनिधि मंडल और रोम से आये समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठ के अध्यक्ष कार्डिनल पीटर टर्कसन और 7 प्रतिनिधियों के साथ मुलाकात करेंगे।

रविवार अपराहन को  संत जेवियर्स कॉलेज के प्रांगण में पवित्र मिस्सा समारोह और रोगियों के संस्कार का अनुष्ठान किया जाएगा। करीब 2000 ख्रीस्तियों के मिस्सा समारोह में भाग लेने की संभावना है तथा विभिन्न केंद्रों से करीब 150 से 200 बीमार लोगों को लाने की व्यवस्था की गई है।

तीसरे दिन का कार्यक्रम

तीसरे दिन याने 11 फरवरी को कोलकाता से 55 किलोमीटर दूर माता मरियम के तीर्थालय, बंडेल में पवित्र मिस्सा समारोह होगा जिनके अधिष्ठाता संत पापा फ्राँसिस के विशेष दूत बांग्लादेश के कार्डिनल पैट्रिक डी रोजारियो हैं। मिस्सा के बाद रोगियों के संस्कार और विशेष प्रार्थना के साथ विश्व रोगी दिवस 2019 का अंतर्राष्ट्रीय समारोह समाप्त होगा। 

परंपरा

विश्व रोगी दिवस की स्थापना, संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने 13 मई 1992 को लूर्द की माता मरियम के पर्व के दिन 11 फरवरी को किया था। इसका उद्देश्य था रोगियों तथा उनकी देखभाल करने वालों की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करना एवं मानवीय पीड़ा को कम करने का प्रयास करना। इस वर्ष इसकी विषयवस्तु होगी, "तुम्हें मुफ्त में मिला है मुफ्त में दे दो।" (मती. 10:8).

09 February 2019, 15:51