Vatican News
पोर्ट ब्लेयर के धर्माध्यक्ष एलेक्सियो दास नेवेस डायस पोर्ट ब्लेयर के धर्माध्यक्ष एलेक्सियो दास नेवेस डायस 

पोर्ट ब्लेयर के प्रथम धर्माध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

संत पापा ने पोर्ट ब्लेयर को धर्माध्यक्ष का इस्तीफा स्वीकार किया।

नई दिल्ली, सोमवार, 7 जनवरी, 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने 6 जनवरी को पोर्ट ब्लेयर के धर्माध्यक्ष एलेक्सियो दास नेवेस डायस के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया।  इसकी घोषणा रविवार को रोम में दोपहर 12 बजे और भारत में इसी समय (शाम 4:30 बजे) की गई थी। पोर्ट ब्लेयर में पूरे अंडमान और निकोबार द्वीप समूह शामिल हैं।

 भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के एक बयान में कहा गया है कि धर्माध्यक्ष डायस पिलार धर्मसंघ के सदस्य हैं और पोर्ट ब्लेयर के पहले धर्माध्यक्ष हैं वे इस साल 5 सितंबर को 75 वर्ष के हो जाएंगे। एक धर्माध्यक्ष के लिए अनिवार्य सेवानिवृत्ति की आयु 75 वर्ष कर दी गई है। कुछ वर्षों से उनका स्वास्थ्य  ठीक न होने की वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया।

सीबीसीआई ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह कलीसिया की समर्पित सेवा के लिए धर्माध्यक्ष डायस को धन्यवाद दिया।

पोर्ट ब्लेयर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की राजधानी है, जो एक संघ शासित इकाई है जिसमें बंगाल की खाड़ी में स्थित 672 द्वीप शामिल हैं। द्वीपसमूह 8,073 वर्ग किलोमीटर में फैला है और उत्तर से दक्षिण तक लगभग 780 किलोमीटर में फैला है। केवल 34 द्वीपों में लोग निवास करते हैं।

अंडमान और निकोबार धर्मप्रांत 

संत पापा जॉन पॉल  द्वितीय ने 18 अगस्त, 1984 को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को एक नया धर्मप्रांत बनाया और धर्माध्यक्ष डायस को 20 जनवरी, 1985 को इसके पहले धर्माध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया। इस धर्मप्रांत में 13 पल्लियाँ हैं जिसमें 23 धर्मप्रांतीय पुरोहित, चार पुरुष धर्मसंध के पुरोहित और आठ महिला धर्मसमाज की धर्मबहनें कार्यरत हैं।

2011 की जनगणना अनुसार अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की आबादी 380,581 थी। अधिकांश आबादी हिंदू, 69.44 प्रतिशत, ख्रीस्तीय 21.27 प्रतिशत, मुस्लिम 8.51 प्रतिशत और अन्य 1 प्रतिशत से कम हैं। धर्मप्रांतीय वेबसाइट के अनुसार, 2014 के वार्षिक गणना के अनुसार काथलिकों की संख्या 38,596 है।

यह एक छोटा भारत है क्योंकि यहाँ बंगाल, पंजाब, केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, छोटानागपुर और अन्य भारतीय राज्यों के लोग रहते हैं।

07 January 2019, 17:18