Cerca

Vatican News
मोरोक्को मोरोक्को  (©milosk50 - stock.adobe.com)

मोरोक्को की यात्रा, इस्लाम-ख्रीस्तीय वार्ता को प्रोत्साहन

राबात के महाधर्माध्यक्ष ख्रीस्तोबल लोपेज ने मंगलवार को मोरोक्को के विश्वासियों को पत्र लिखकर इस बात की पुष्टि दी कि मार्च 2019 में संत पापा इस्लाम-ख्रीस्तीय अंतरधार्मिक वार्ता को प्रोत्साहन देंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 14 नवम्बर 2018 (वाटिकन न्यूज)˸ राबात के महाधर्माध्यक्ष ने पत्र में लिखा, "प्रिय ख्रीस्तीय भाइयो एवं बहनो, परमधर्मपीठ ने यह घोषणा की है कि संत पापा फ्राँसिस 30 से 31 मार्च 2019 तक मोरोक्को की प्रेरितिक यात्रा करेंगे। महाधर्माध्यक्ष ने इस बात पर भी प्रकाश डाला है कि मोरोक्को में अनेक ख्रीस्तीय हैं जो यूरोप की ओर पलायन की कठिन स्थिति से गुजर रहे हैं।

स्नेह एवं आशा की याद

उन्होंने याद किया कि सन् 1985 में संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने मोरोक्को की प्रेरितिक यात्रा की थी तथा मोरोक्को की काथलिक कलीसिया एवं लोगों के बीच आशा प्रेम एवं आशीर्वाद लाया था।  

वार्ता एवं सहयोग को प्रोत्साहन

महाधर्माध्यक्ष ने लिखा कि संत पापा का यह मिशन लोगों के विश्वास को मजबूत करने के लिए है। उन्होंने कहा, "संत पापा हमारे बारे जानना चाहते हैं, हमारे जीवन को बांटना, हमें प्रोत्साहन देना, हमारे साथ प्रार्थना करना तथा हमें आशीर्वाद देना चाहते हैं। संत पापा मोरोक्को की जनता एवं अधिकारियों से मिलना चाहते हैं विशेषकर, इस्लाम-ख्रीस्तीय अंतरधार्मिक मनोभाव के साथ राजा से मुलाकात करना तथा वार्ता को बढ़ावा देना चाहते हैं।"

महाधर्माध्यक्ष ने इच्छा जाहिर की कि ख्रीस्तीय आपस में तथा मोरोक्को को अन्य धर्मों के लोगों के साथ सहयोग की भावना को बढ़ावा दें। उन्होंने कहा कि संत पापा की यात्रा, रोम के धर्माध्यक्ष के साथ संयुक्त होने का एक महान अवसर होगा इस प्रकार वे विश्वव्यापी कलीसिया के साथ एक हो जायेंगे।

फलप्रद यात्रा के लिए प्रार्थना

महाधर्माध्यक्ष लोपेज ने ख्रीस्तियों से अपील की कि वे संत पापा की ओर आगे बढ़ते हुए अपने आप को उदार बनायें जो दूर से मिलने के लिए आ रहे हैं। उन्होंने विश्वासियों का आह्वान किया कि वे संत पापा की फलप्रद यात्रा हेतु प्रार्थना करें।

14 November 2018, 17:09