Cerca

Vatican News
अफ्रीका के मिश्नरियों का धर्मसमाज  “वाइट फादर्स” अफ्रीका के मिश्नरियों का धर्मसमाज “वाइट फादर्स”  

अफ्रीका मिश्नरियों द्वारा 150वीं सालगिरह मनाने की तैयारी

दो मिश्नरी धर्मसमाजों की स्थापना अलजीरिया में हुई। सन् 1868 ई. में अलजीयर्स महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल चार्ल्स लाविजियेरे ने अफ्रीका के मिश्नरियों के धर्मसमाज की स्थापना की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी,सोमवार 26 नवम्बर 2018 (वाटिकन रेडियो, रेई): 8 दिसम्बर 2019 को माता मरिया के निष्कलंक गर्भधारण महोत्सव के दिन अफ्रीका के दो मिश्नरी संस्थाएं अपनी संस्था का 10वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इन संस्थाओं के संस्थापक कार्डिनल लाविजियेरे ने पुरुषों और महिलाओं के अलग धर्मसमाज की स्थापना की। अफ्रीका के मिश्नरियों का धर्मसमाज जो “वाइट फादर्स” के नाम से जाने जाते हैं अफ्रीका की माता मरिया की मिश्नरियों की धर्मबहनें जो “वाईट सिस्टर्स” के नाम से जानी जाती हैं।  

इन मिशनरियों का उल्लेख किए बिना अफ्रीका में सुसमाचार प्रचार के बारे में बात करना लगभग असंभव है।

8 दिसम्बर 2018 से 8 दिसम्बर 2019 तक एक वर्ष तक जुबली समारोह के बारे वाटिकन रेडियो के संवाददाता पौल सामासूमो से सुपीरियर जेनरल, सिस्टर कारमेन साममुट, और सुपीरियर जेनरल फादर स्टेनली लुबुनगो ने संयुक्त रूप से अपनी महान खुशी के बारे में बातें कीं।

धर्मसमाजों की स्थापना

दो मिश्नरी धर्मसमाजों की स्थापना अलजीरिया में हुई। सन् 1868 ई. में अलजीयर्स महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल चार्ल्स लाविजियेरे ने अफ्रीका के मिश्नरियों के धर्मसमाज की स्थापना की। नये मिश्नरियों ने अरब का स्थानीय पोशाक धारण किया जो “गांदूरा” के नाम से जाना जाता है साथ ही उन्होंने ख्रीस्तीय पहचान के रुप में रोजरी माला को गले में धारण किया। एक वर्ष बाद कार्डिनल लाविजियेरे ने धर्मबहनों के लिए अफ्रीका की माता मरिया की मिश्नरियों के धर्मसमाज की स्थापना की।

इन मिश्नरियों के कामों के कारण उनकी लोकप्रियता बढ़ती गई। अफ्रीका के अनेक देशों में उनकी मांग होने लगी। धर्मसमाज के मुख्यालय, रोम ने अफ्रीका में सुसमाचार प्रचार हेतु उनकी मांगों को पूरा करने का हर संभव प्रयास किया। पुरोहितों की मांग को देखते हुए 18 अक्टूबर 1868 को अलजीरिया के बेन-अकोन में पहला नवशिष्यालय ‘रोस्टान गृह’ खोला गया।

अल्जीरिया के शहीदों की धन्य घोषणा

सिस्टर कारमेन साममुट और फादर स्टेनली लुबुनगो ने बताया कि वर्ष 2018 को अल्जीरिया के कई अन्य खुशहाली संयोगों के साथ 19 शहीदों के धन्य घोषणा का समारोह मनाया जाएगा, उन शहीदों में लाविजियेरे परिवार के चार सदस्य भी शामिल हैं।

8 दिसंबर 2018 को  संत प्रकरण मंडली का प्रीफेक्ट कार्डिनल अंजेलो बेच्चू, धर्माध्यक्ष पियरे क्लेवेरी और 1894 से 1896 के बीच शहीद होने वाले उनके 18 साथियों के धन्य घोषणा समारोह की  अध्यक्षता करेंगे। समारोह अल्जीरिया के ओरान स्थित पवित्र क्रूस की माता मरियम के तीर्थालय में होगा।

 

26 November 2018, 16:08