बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News

मेल-मिलाप हेतु प्रतिबद्धता को संत पापा ने सौंपा चीनी काथलिकों को

वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने चीन में धर्माध्यक्षों की नियुक्ति पर वाटिकन एवं चीन के बीच अस्थायी समझौता के उद्देश्य को स्पष्ट किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 22 सितम्बर 2018 (वाटिकन न्यूज)˸ चीन में धर्माध्यक्षों की नियुक्ति पर वाटिकन एवं चीन के बीच अस्थायी समझौता पर हस्ताक्षर शनिवार को किया गया।

कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने कहा, "धर्माध्यक्षों की नियुक्ति पर वाटिकन एवं चीन के बीच अस्थायी समझौता पर हस्ताक्षर का बहुत महत्व है, खासकर, चीन की कलीसिया के जीवन के लिए, परमधर्मपीठ एवं देश के अधिकारियों के बीच वार्ता के लिए तथा आधुनिक समय में शांति के क्षितिज को प्रोत्साहन देने के लिए, जब हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई तनावों को महसूस कर रहे हैं।" 

 

उन्होंने कहा, "परमधर्मपीठ का उद्देश्य है प्रेरितिक ˸ परमधर्मपीठ, महान स्वतंत्रता, स्वायत्तता और संगठन का केवल एक स्थिति उत्पन्न करना चाहता है अथवा स्थिति उत्पन्न करने के लिए मदद देना चाहता है ताकि काथलिक कलीसिया सुसमाचार के प्रचार में समर्पित हो सके तथा कल्याण, आध्यात्मिक एवं भौतिक समृद्धि तथा देश, व्यक्ति एवं समस्त विश्व के प्रति सौहार्द को सहयोग दे सकें।

आज पहली बार चीन के धर्माध्यक्ष, रोम के धर्माध्यक्ष संत पेत्रुस के उत्तराधिकारी के साथ जुड़ गये हैं तथा संत पापा फ्राँसिस जो उनके तत्कालिक उतराधिकारी हैं चीनी लोगों को विशेष चिंता से देखते हैं। अभी जो आवश्यक है वह है एकता, भरोसा तथा नई शक्ति ताकि अच्छे धर्माध्यक्षों को प्राप्त किया सकें जो संत पेत्रुस के उत्तराधिकारी पोप एवं चीनी अधिकारियों द्वारा पहचान प्राप्त हों। हम विश्वास करते हैं, आशा करते तथा उम्मीद रखते हैं कि समझौता सभी के सहयोग से इन उद्देश्यों का माध्यम बनेगा।    

संत पापा चीन की काथलिक कलीसिया में–धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं विश्वासियों के लिए, मेल-मिलाप के एक ठोस भाईचारा पूर्ण व्यवहार हेतु समर्पण की जिम्मेदारी सौंपते हैं ताकि बीती गलतफहमी एवं तनाव से बाहर निकल सकें। इस तरह वे सचमुच अपना सहयोग दे सकेंगे और कलीसिया के कर्तव्यों को पूरा कर सकेंगे जो सुसमाचार की घोषणा है, साथ ही साथ, देश की उन्नति, आध्यात्मिक एवं भौतिक विकास तथा विश्व में शांति एवं मेल-मिलाप को सहयोग दे सकेंगे। 

22 September 2018, 17:02