बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
तिब्रीरिन के ट्रैपिस्ट शहीद तिब्रीरिन के ट्रैपिस्ट शहीद  (AFP or licensors)

8 दिसंबर को तिब्रीरिन के ट्रैपिस्ट शहीदों की धन्य घोषणा

अल्जीरिया के धर्माध्यक्षों ने खुशी से 1949 और 1996 के बीच अल्जीरिया में मारे गए 19 शहीद- पुरोहितों, मठवासियों और धर्मबहनों की धन्य घोषणा हेतु पवित्र मिस्सा समारोह की तारीख और जगह की घोषणा की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ओरान, शुक्रवार 14 सितम्बर 2018 ( वाटिकन न्यूज) : अल्जीरियाई धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने घोषणा की कि धर्माध्यक्ष पियरे क्लेवेरी और विभिन्न परिस्थितियों में मारे गये 18 शहीदों की धन्य धोषणा का पवित्र मिस्सा समारोह 8 दिसंबर को अल्जीरिया के ओरान में नोट्रेडेम डी सांताक्रूज के परिसर में होगा। संत प्रकरण हेतु गठित धर्मसंघ के अध्यक्ष कार्डिनस एंजेलो बेच्चू , पोप फ्रांसिस के विशेष दूत के रुप में धर्मविधि की अध्यक्षता करेंगे।

तिब्रीरिन मठ के ट्रैपिस्ट

धन्य घोषित होने वाले सभी गृह युद्ध में मारे गये थे उत्तरी अफ्रीकी देश में 1991 से 2002 के बीच "इस्लामी साल्वेशन फ्रंट" और अल्जीयर्स की सेना के इस्लामवादियों के बीच संघर्ष के समय था।

एक हिंसा जिसने अल्जीरिया के लोगों को मारा और इस हिंसा का हिस्सा सात ट्रैपिस्ट मठवासियों को भी बनना पड़ा। मार्च 1996 में पहले तिब्रीरिन के अपने मठ से उन्हें अपहरण कर लिया गया था मठाध्यक्ष फादर ख्रीस्टीन डी चेर्गे के साथ अन्यों को मार डाला गया। वे किन परिस्थितियों में मारे गये यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ। केवल दो महीने बाद उनका सिर पाया गया, जबकि "सशस्त्र इस्लामी समूह" ने उनकी हत्या का दावा किया था। यद्यपि उन्हें खतरे के बारे में पता था, उन्हें मार डाले जाने की धमकी दी थी पर  ट्रैपिस्टों ने इसके बारे में लंबे समय तक विचार किए बिना एक साथ फैसला किया था कि वे अंत तक अल्जीरियाई लोगों के साथ रहेंगे, जिनके लिए उन्हें भेजा गया था।

14 September 2018, 15:42