Cerca

Vatican News
एक भारतीय प्रार्थना करते हुए एक भारतीय प्रार्थना करते हुए  (AFP or licensors)

भारत की कलीसिया के लिए प्रार्थना दिवस

प्रार्थना एवं मनन-चिंतन, धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों एवं लोकधर्मियों को प्रेरिताई में मदद देने का माध्यम है। विभिन्न धर्मप्रांतों में प्रार्थना सभा का आयोजन।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

मुम्बई, शनिवार, 4 अगस्त 2018 (एशियान्यूज)˸ भारत के काथलिक विश्वासी आज देशभर के ख्रीस्तियों के लिए, प्रार्थना एवं मनन चिंतन दिवस मनाते हैं। इस दिन को मनाने के लिए धर्मप्रांतों में कई योजनाएँ बनायी गयी हैं। इसका उद्देश्य है धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों एवं लोकधर्मियों के लिए प्रार्थना करना। उक्त बात की जानकारी कलीसिया के धर्मगुरूओं ने एशिया न्यूज को दी।

गुजरात में प्रार्थना

गुजरात के बरोदा स्थित प्रेम ज्योति कार्मेल आश्रम में प्रार्थना हेतु पवित्र संस्कार को प्रातः 5 बजे से मध्यरात्रि तक खुला रखा जाएगा जहाँ मठवासी धर्मबहनें प्रार्थना करेंगी।

नई दिल्ली में कलीसिया एवं देश के लिए प्रार्थना

नई दिल्ली के संत अलफोंसा पल्ली में, पल्ली पुरोहित फादर फ्रेड्रिक डीसूजा, ने विश्वासियों का आह्वान किया है कि वे इस प्रार्थना दिवस में भाग लें। संत अलफोंसा पल्ली में करीब 400 परिवार हैं। यह एक मिश्रित समुदाय है जहाँ विभिन्न क्षेत्रों के आदिवासी और केरल एवं मैंगलोर के लोग हैं।

फादर ने कहा, "हमने कलीसिया एवं हमारे प्यारे देश के लिए प्रार्थना करने का निश्चय किया है, खासकर, हम मिशनरीस ऑफ चैरिटी के लिए प्रार्थना कर रहे हैं जिनकी धर्मबहनें भी इस आराधना प्रार्थना में भाग लेंगे।"  

मुम्बई में पुरोहितों के लिए विशेष प्रार्थना

मुम्बई महाधर्मप्रांत में कार्डिनल ऑस्वल्ड ग्रेसियस ने भी एक प्रार्थना का आयोजन किया है जहाँ प्रेरिताई में लगे सभी पुरोहितों के लिए प्रार्थना की जायेगी।

कार्डिनल ने कहा, "इसका उद्देश्य है पुरोहितों के महान समर्पण, प्रतिबद्धता एवं उदारता के प्रति लोगों के बीच जागृति लाना, जो प्रेरिताई में कई चुनौतियों के बावजूद साहस पूर्वक कार्य करते हैं।"

उन्होंने कहा कि वे पूरे भारत एवं विश्वव्यापी कलीसिया में इस प्रार्थना दिवस को मनाना चाहते हैं ताकि सभी पुरोहित एवं विश्वासी प्रभु पर अपना पूर्ण भरोसा रख सकें जो उनकी सभी बाधाओं से अधिक शक्तिशाली हैं। वे अपने प्रेरितिक कार्यों में अधिक से अधिक प्रभावशाली बन सकें, पवित्रता में बढ़ सकें, लोगों की आगुवाई प्रज्ञा के साथ कर सकें तथा प्रेरिताई को आगे ले सकें।  

कार्डिनल ने सभी को निमंत्रण दिया है कि वे बुलाहट के लिए प्रार्थना करें तथा घोषणा की है कि वे बुलाहट के लिए आयोग को पुनःगठित करेंगे। उन्होंने कहा कि पल्लियों में बुलाहट के लिए नियमित प्रार्थना शुरू की जायेगी।  

 जलांधर के धर्माध्यक्ष के लिए अगस्त माह का महत्व

जलांधर के धर्माध्यक्ष फ्राँको मुलाक्कल ने कहा, "अगस्त महीना हमें आनन्द प्रदान करता एवं जिम्मेदारी की याद दिलाता है। 4 अगस्त को संत जॉन मेरी वियन्ने का पर्व मनाया जाता है जिसे पुरोहितों के पर्व दिवस के रूप में मनाया जाता है तथा यह जलांधर के धर्माध्यक्ष के पावन अभिषेक की प्रथम सालगिराह है। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस एवं माता मरियम के स्वर्गोरोहण महापर्व एवं संत मक्सिमिलियन कोलबे, संत योहन बपतिस्ता जैसे महान शहीदों का पर्व अगस्त माह में ही मनाया जाता है।"

यौन शोषण के आरोपी धर्माध्यक्ष ने अपना पूरा विश्वास ईश्वर की योजना पर रखा है। उनका कहना है कि हम "ईश्वर की योजनाओं एवं उद्देश्यों को देर से समझते हैं किन्तु हजारों पुरोहितों, धर्मसमाजियों और लोकधर्मियों की प्रार्थना तथा ईश्वर की दया के द्वारा पीड़ा की इस घड़ी में, ईश्वर की प्रेमी योजना निश्चय ही प्रकट होगी।"

बुराई के आक्रमण से कलीसिया की रक्षा के लिए प्रार्थना

उन्होंने कहा, "मैं इसे ईश्वर की योजना मानता हूँ और अपने आपको उनकी इच्छा पर समर्पित कर देता हूँ। मैं आप सभी से मेरे एवं कलीसिया के लिए प्रार्थना का निवेदन करता हूँ। यह हमारे लिए अधिक प्रार्थना करने का समय है ताकि बुराई के आक्रमण से कलीसिया की रक्षा की जा सके। हम ईश्वर की अच्छाई पर भरोसा रखें एवं उनकी दया पर अपने आप को समर्पित कर दें।" 

04 August 2018, 12:51