बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
73वां स्वतंत्रता दिवस 73वां स्वतंत्रता दिवस  (ANSA)

चौथी कोरियाई युवा दिवस का समापन 15 अगस्त को

कोरिया के 16 धर्मप्रांतो से करीब 2000 युवा सियोल में अपने जीवन के अनुभव को साझा करने और येसु मसीह में अपने विश्वास एवं उसके बुलावे की पुष्टि करने के लिए एकत्रित हुए हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी 

सियोल, बुधवार 15 अगस्त 2018 ( रेई) : बुधवार 15 अगस्त को दक्षिण कोरियाई राजधानी सियोल में काथलिक कलीसिया का चौथा कोरियाई युवा दिवस समाप्त हो रहा है। 11 से 15 अगस्त तक चल रहे कोरियाई युवा दिवस की मेजबानी सियोल महाधर्मप्रांत ने की है जिसका विषय है, "मैं ही हूँ; डरो मत।" (योहन 6:20)

कोरियाई युवा कार्यक्रम

विश्व अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के समारुप आयोजित, 3 दिनों के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए 16 कोरियाई धर्मप्रांतों से करीब 2,000 युवा लोग एकत्रित हुए हैं। उन्होंने अपने जीवन के अनुभवों  और विचारों का आदान-प्रदान किया और मसीह में अपने विश्वास की पुष्टि करते हुए अपनी बुलाहट पर भी आत्म-चिंतन किया। प्रतिभागियों को स्थानीय परिवारों में रखा गया था इन परिवारों ने अपनी पल्लियों के माध्यम से युवाओं को अपने घर में रखने की इच्छा प्रकट की थी।

12 अगस्त को सियोल के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल अन्ड्रू योम सू-यूंग ने उद्धघाटन यूखारीस्तीय समारोह अनुष्ठान किया। इसके बाद प्रतिभागी सियोल के विभिन्न पवित्र स्थानों की तीर्थयात्रा की जैसे वे कोरियाई शहीदों के तीर्थालय गये जहाँ धर्माध्यक्षों ने उन्हें धर्मशिक्षा दी। माएनडोंग महागिरजाघर में विशेष सांस्कृतिक समारोह का आयोजन किया गया। संगीत समारोह और ब्रदर अलोइस के नेतृत्व में तेजे समुदाय द्वारा युवाओं के लिए जागरण प्रार्थना का आयोजन किया गया था।

15 अगस्त–बहुत महत्वपूर्ण दिन

चौथा कोरियाई युवा दिवय का समापन 15 अगस्त माता मरियम के स्वर्गोउद्ग्रहण के दिन होगा। यह दिन काथलिकों और देश वासियों दोनों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। 15 अगस्त दोनों कोरियाई देशों का स्वतंत्रता दिवस है। 15 अगस्त, 1945 को जापान पर जीत हासिल की थी। अमेरिकी और सोवियत सेनाओं ने कोरियाई प्रायद्वीप को दशकों से चले आ रही लंबी जापानी कब्जे से मुक्त किया था।

15 अगस्त, 1995 को माता मरियम के स्वर्गोउद्ग्रहण के दिन दोनों कोरियाई काथलिक इस बात पर सहमत हुए कि वे अपने देश में शांति और सुलह के लिए हर मंगलवार की शाम सियोल के माएनडोंग महागिरजाघर में पवित्र मिस्सा उपरांत संत फ्राँसिस असीसी की शांति प्रार्थना करेंगे।

पहला कोरियाई युवा दिवस 2007 में जेजू में आयोजित किया गया था, दूसरा 2010 में उइजोंगू में था और तीसरा 2014 में डाएजेन में 6वें एशियाई युवा दिवस के साथ हुआ, जिसमें संत पापा फ्रांसिस ने 13 से 18 अगस्त तक भाग लिया था।

15 August 2018, 16:13