बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिये कार्यरत राहत कर्मी केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिये कार्यरत राहत कर्मी  (AFP or licensors)

काथलिक एजेंसियों द्वारा केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता जारी

सेन्ट विन्सेन्ट दे पौल सोसाईटी विस्थापितों के लिये अनुदान एकत्र कर रही है तथा लोगों को खाद्य एवं प्राथमिक आवश्यकता की सामग्री मुहैया करा रही है। इसके अतिरिक्त, विश्वव्यापी काथलिक उदारता संगठन कारितास की भारतीय शाखा कारितास इन्डिया तथा काथलिक रिलीफ सर्विसेज़ नामक काथलिक राहस एजेन्सियाँ भी बाढ़ पीड़ितों की मदद कर रही हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

तिरुवनन्तपुरम, शुक्रवार, 31 अगस्त 2018 (सी.एन.आ.): केरल में हालांकि, बाढ़ के पानी में गिरवट आ रही है काथलिक कलीसिया द्वारा संचालित लोकोपकारी एजेन्सियों द्वारा बाढ़ पीड़ितों की सहायता का कार्य जारी है जो लोगों तक राहत सामग्री पहुँचा रहे हैं.

स्थानीय मछुआ समुदाय का सहयोग

भारत में कार्यरत लोकोपकारी काथलिक एजेन्सी सेन्ट विन्सेन्ट दे पौल सोसाईटी के अध्यक्ष जॉनसन वरगिस ने इस सप्ताह बताया कि उनकी एजेन्सी स्थानीय मछुआ समुदाय के साथ मिलकर बाढ़ लिप्त घरों में फँसें लोगों को निकालने का काम कर रही है. इसके अतिरिक्त, उनके स्वयंसेवक खाद्य पदार्थों को एकत्र कर ज़रूरतमन्दों में उनका वितरण कर रहे हैं. 

अनुदान का आग्रह

अनुदान की आवश्यकता निरूपित कर उन्होंने कहा, "हमें दान की नितान्त आवश्यकता है क्योंकि बचाव प्रयास जारी है. जैसे-जैसे लोग अपने क्षतिग्रस्त घरों में वापस चले जा रहे हैं, उनके घरों के पुनर्निर्माण, घर के बर्तनों, वस्त्रों, किताबों और यहाँ तक कि पशुधन खोनेवाले लोगों के लिये पशुओं की खरीदी के लिए धन की जरूरत पड़ रही है, जिसके लिये अनुदानों की आवश्यकता है. "

केरल में भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन के चलते लगभग 400 लोगों की मौत हो गई तथा कम से कम दस लाख लोग बेघर अथवा विस्थापित हो गये हैं. बाढ़ के उपरान्त अपने घरों को लौट रहे लोगों को सर्पों एवं कीड़े मकौड़ों सहित प्रदूषित जल एवं बर्बाद फसल का सामना करना पड़ रहा है.

सेन्ट विन्सेन्ट दे पौल सोसाईटी विस्थापितों के लिये अनुदान एकत्र कर रही है तथा लोगों को खाद्य एवं प्राथमिक आवश्यकता की सामग्री मुहैया करा रही है. इसके अतिरिक्त, विश्वव्यापी काथलिक उदारता संगठन कारितास की भारतीय शाखा कारितास इन्डिया तथा काथलिक रिलीफ सर्विसेज़ नामक काथलिक राहस एजेन्सियाँ भी बाढ़ पीड़ितों को स्वस्छ पेयजल की विशिष्ट गोलियाँ, स्वच्छ जल जमा करने के लिये बाल्टियाँ, हाईजीन सामग्रियाँ जैसे साबुन और नैपकिन आदि प्रदान कर उनकी मदद कर रही हैं.

31 August 2018, 11:38