Cerca

Vatican News
फातिमा का माता मरियम फातिमा का माता मरियम  (AFP or licensors)

हरिसा की माता मरियम तीर्थालय की जयंती वर्ष का उद्घाटन

सन् 1908 में "पूर्व और पश्चिम के मिलन स्थान" हरिसा में माता मरियम का तीर्थालय बनाया गया था। प्रत्येक वर्ष कम से कम 2 मिलियन ख्रीस्तीय और मुस्लिम दोनों तीर्थयात्री आते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी 

हारिसा, शनिवार 4 अगस्त 2018 (एशिया न्यूज) : लेबनान में हरिसा के शिखर पर स्थित माता मरियम तीर्थालय में स्थापित माता मरियम की प्रतिमा देश की पूरी तट रेखा से दिखाई देती है। 1908 में निर्मित तीर्थालय की 110 वर्षीय जुबली कल से मनाना शुरु किया जाएगा।  

कल 5 अगस्त को महागिरजाघर में स्थानीय समय सुबह 11 बजे समारोही ख्रीस्तयाग के साथ जुबली का उद्घाटन किया जाएगा। फिर एक जुलूस के साथ तीर्थालय के "पवित्र द्वार" का उद्घाटन होगा, जो पूरा वर्ष तीर्थयात्रियों के स्वागत के लिए खुला रहेगा।

हरिसा के तीर्थालय में माता मरियम का दर्शन करने ख्रीस्तीय और मुस्लिम भी आते हैं। वे कुरान में वर्णित कुंवारी माता मरियम का सम्मान करते हैं। मुस्लिम महिलाएं तीर्थालय में मोमबत्तियाँ जलाती हैं, फूल और रुपये भी चढ़ाती हैं और विशेष रूप से बच्चा पाने के लिए मन्नत मांगती हैं।

तीर्थालय के उप-रेक्टर फादर खलील अलवान ने ओरिएंट-ले जॉर के साथ एक साक्षात्कार में इस बात की पुष्टि की, कि हरिसा तीर्थालय का महागिरजाघर "पूर्वी और पश्चिम देशों के बीच एक मिलन स्थान है"। हर साल कम से कम 2 मिलियन तीर्थयात्री यहाँ आते हैं।

01 July 2018, 16:20